उत्तर कोरिया मसले पर कुछ खास नहीं कर रहा चीन : अमेरिका

वाशिंगटन, भाषा। व्हाइट हाउस ने कहा है कि उत्तर कोरिया परमाणु और मिसाइल परीक्षण करके लगातार अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन कर रहा है और चीन इस मसले में पर्याप्त काम नहीं कर रहा है। अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार लेफ्टिनेंट जनरल एच आर मैकमास्टर ने संवाददाताओं से कहा, मुझे नहीं लगता कि चीन पर्याप्त काम कर रहा है क्योंकि समस्या हल नहीं हो रही है। अब प्रश्न यह है कि इसे हल करने के लिए हमें मिल कर कितना कुछ करना चाहिए। मैकमास्टर ने कहा, तो इस तरह की चर्चा हम चीनी नेतृत्व से करते रहेंगे ..उन पर दबाव नहीं बनाएंगे.. लेकिन उनके साथ काम करेंगे। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस सप्ताह चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर मुलाकात कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि यह चीन पर किसी तरह का दबाव डालने वाला नहीं बल्कि साझा हितों के क्षेत्रों में चीन के साथ मिल कर काम करने वाला होना चाहिए। दोनों राष्ट्राध्यक्षों के बीच फ्लोरिडा में हुई मुलाकात में दोनों नेता कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त कराने के साझा उद्देश्य पर सहमत हुए थे। मैकमास्टर ने कहा, यह साथ काम करने का एक ठोस आधार है। हालांकि बहुत कुछ किया जाना बाकी है। राष्ट्रपति ने कहा है कि वह उस उत्तर कोरियाई शासन को बर्दाश्त नहीं करेंगे जो अमेरिका को निशाना बना सकता है, जो परमाणु हथियार के साथ अमेरिका पहुंच सकता है। वह इसे जरा भी बर्दाश्त नहीं कर सकते। अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि उत्तर कोरिया ने साल 2016 में दो परमाणु परीक्षण और 20 बैलेस्टिक मिसाइल परीक्षण किए हैं।

इसी तरह की खबर